अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं Previous item अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी... Next item गाय पर हुआ राष्ट्रीय सम्मेलन

अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

*आप सभी को*
*द्वितीय अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं*

‘योग’ संस्कृत शब्द “युज” से उत्पन हुआ है जिसका अर्थ “जोड़ना” होता है ।
योग के महान ग्रन्थ “पतंजलि योग” दर्शन में योग के बारे में कहा गया है |
*” योगश्च चित्तवृत्ति निरोध:- “*
अर्थात
मन की वृत्तियों पर नियंत्रण करना ही योग है।

गीता में इसे कहा गया है –
*“योग: कर्मसु कौशलम -“*
यानि कर्मों में कौशल या दक्षता ही योग है।

योग (Yoga) हमारे शरीर, मन और आत्मा (Mind, Body and Soul) के बीच संयम स्थापित करती है, जिससे हमारी शरीर की संपूर्ण शक्तियां जाग्रत होने लगती है।

*करो योग-रहो निरोग*

Visit Us On FacebookVisit Us On TwitterVisit Us On Google PlusVisit Us On InstagramVisit Us On PinterestVisit Us On Youtube