सर्वांगासन – सुंदरता के अतिरिक्त उपायकारक Previous item सुबह-सुबह ये 4 योगासन करने... Next item Take Advantage of Heart...

सर्वांगासन – सुंदरता के अतिरिक्त उपायकारक

योग सकारात्मक रूप से जीने की कला सिखाता है। हमे कई प्रकार के रोगों से मुक्त कर स्वस्थ जीवन जीने का हुनर सिखाता है। योग नामक परम औषधि मन और शरीर दोनों को प्रभावित करती है तथा शरीर की सभी इन्द्रियों को नियंत्रित करती है। योग करने से मनुष्य शारीरिक रूप से स्वस्थ रहता है। जिससे उसका जीवन सरल और सुगम हो जाता है। योग में ऐसे कई आसन है जिन्हें करने से हमारे शरीर की कई व्याधियां दूर हो जाती हैं और हम एक स्वास्थ्य जीवन जी पाते हैं। तो आज हम एक ऐसे ही योग सर्वांगासन के बारे में जानेंगे |

सर्वांगासन से शरीर के उन अंगों से रक्त संचार होने लगता है जहां रक्त संचार कम होता है। इस आसन के प्रभाव से चेहरे पर झाइयां नहीं पड़ती हैं। लम्बी उम्र तक चेहरे पर चमक बनी रहती है। समय से पूर्व बाल सफेद नहीं होते हैं। नेत्र ज्योति अंत तक बनी रहती है।

सर्वांगासन करने की विधि
• पीठ के बल लेट जाएं।
• अपने हाथों को धड़ के बगल में रखें और हथेलियां नीचे।
• सांस अंदर लेते हुए अपने पैरों को सीधा ऊपर उठाएं।
• हथेलियों से कमर को सहारा दें।
• इस स्थिति में सीधा रहते हुए सारा वजन कंधों पर डालना हैं।
• सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे कमर और पैरों को नीचे लाएं।

सर्वांगासन के लाभ
• इस आसन को करने के लिए दरी या चटाई बिछाकर पीठ के बल लेट जाएं।
• अब दोनो पैरों को मिलाएं।
• धीरे-धीरे सांस को लेते हुए पैरों को ऊपर की ओर उठाएं।ध्यान रहें इस क्रिया को करते समय पैर एक दम सीधे रहें।
• अब छाती के भाग को ऊपर की ओर उठाएं।
• इसके बाद अपने दोनों हाथों को कोहनी से मोड़कर कमर पर रखें। ध्यान रहे इस अवस्था में पूरे शरीर का भार कंधों पर रहना चाहिए।

एनर्जीगुरु अरिहंतऋषिजी की विशेष टिपण्णी
योग क्रिया करनेसे शरीर की बहुत सारी बीमारियोंको नष्ट किया जा सकता हे |

Visit Us On FacebookVisit Us On TwitterVisit Us On Google PlusVisit Us On InstagramVisit Us On PinterestVisit Us On Youtube